Wednesday , February 28 2024

Handmade Jewellery Business in Hindi

हाथ से बने गहनों का व्यापार ( Handmade Jewellery Business )-आज का समय फैशन का समय है। हम सभी महिलाएं फैशन के अनुरूप अपने आप को खूबसूरत और आकर्षक दिखाना चाहती  है। अपने आप को खूबसूरत दिखाने के लिए हम तरह तरह के कपड़े और गहनें पहनना पसंद करती है। सोने व् चांदी के गहनें सदैव से ही फैशन के अनुरूप प्रचलन में रहे है। 

महंगाई अधिक होने के कारण सोने व् चांदी के गहनें सभी महिलाएं पहन नहीं सकती है।  इसी लिए महिलाओ की जरूरतों और फैशन को ध्यान में रखते हुए बाजार में हाथ से बने गहने या हैंडमेड ज्वेलरी का बहुत ट्रेंड है।  हैंडमेड गहनों का व्यवसाय आज बाजार में लाखो की कमाई कर रहा है।  आज हम आपको  Handmade Jewellery Business in Hindi के बारे में बताएंगे।

क्या है “हाथ से बने गहने “( What is Handmade Jewellery )

हैंड मेड या हाथ से बने हुए गहने वह गहने होते है जिन्हे बड़ी बड़ी मशीनो का उपयोग करके नहीं बनाया जाता है।  बल्कि इन गहनों को हाथो द्वारा बनाया जाता है।  यह गहने विभिन्न प्रकार के तारो , मोतियों , लकड़ी आदि का उपयोग करके बनाये जाते है।

हैंड मेड ज्वेलरी  के प्रकार ( Types of  Handmade Jewellery )

वर्तमान समय में हैंडमेड ज्वेलरी का बहुत ज्यादा प्रचलन है।  आज के समय में फैशन को ध्यान में रखते हुए बाजार में  विभिन्न प्रकार की हैंडमेड ज्वेलरी मिलती है  । इन ज्वेलरी को इनके बनाने की तकनीक और सामग्री के आधार पर कई तरीको में बांटा जा सकता है जैसे की

  • एंटीक हैंड मेड ज्वेलरी

एंटीक ज्वेलरी विशेष प्रकार से इस प्रकार की ज्वेलरी होती है जो की पुराने समय में पहनी जाती थी। पुराने समय की ज्वेलरी को ध्यान में रख कर ही इसका निर्माण किया जाता है। यह ज्वेलरी अपने डिज़ाइन और ट्रेंड के कारण बाजार में आकर्षण का केंद्र रहती है।

  • विभिन्न प्रकार की मालाएं

मालाएं शुरू से ही गहनों में सबसे ज्यादा पसंद की जाने वस्तुएं है। आज के समय में मोती , सीप , हाथी दांत , लकड़ी आदि कई प्रकार की हैंडमेड मालाएं बाजार में उपलब्ध है।

  • कस्टम  हैंड मेड ज्वेलरी

कस्टम हैंड मेड ज्वेलरी ऐसी ज्वेलरी होती है जो की कस्टमर की जरूरत और उनकी पसंद के अनुसार बनाई जाती है। वर्तमान समय में हैंडमेड ज्वेलरी यह प्रकार सबसे ज्यादा ट्रेंड में है।

  • फिलाग्री हैंड मेड ज्वेलरी

फिलाग्री हैंड मेड ज्वेलरी चांदी से निर्मित विशेष प्रकार की ज्वेलरी होती है।  इस ज्वेलरी का निर्माण बहुत कुशलता के साथ किया जाता है।  यह ज्वेलरी बाजार में अपने स्पेशल डिज़ाइन के लिए जानी जाती है।

  • टेराकोटा के बने गहनें 

टेराकोटा से बने हैंड मेड गहनें  विशेष तकनीक के द्वारा बनाये जाते है।  गहनें  बनने के बाद इन्हे बेहद खूबसूरती से सजाया जाता है।  जिससे इसकी खूबसूरती कई गुना  तक अधिक बढ़ जाती है।

  • लकड़ी के गहनें 

लकड़ी से बने हैंड मेड गहनें  आज कल बहुत ट्रेंड है।  इन गहनों को लकड़ियों पर डिज़ाइन करके विशेष ढंग से बनाया जाता है।  एक बार गहने बनाने के बाद इन्हे विभिन्न रंगो और वस्तुओ से सजाया जाता है।

हाथ से बने गहनों का व्यापर कैसे शुरू करें ( How to Start  Handmade Jewellery Business )

हाथ से बने गहनों का व्यापार कोई भी व्यक्ति आसानी से शुरू का सकता है बस इसके लिए कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना होगा जैसे की –

  • गहनें डिजाइनिंग का काम

हैंडमेड ज्वेलरी का काम शुरू करने के लिए सबसे ज्यादा जरुरी है की आपको गहनें डिज़ाइन करना अच्छी तरह आता हो। साथ ही साथ यह भी ध्यान रखे की आप अपने आपको समय के साथ साथ अप टू डेट रखें जिससे की आप फैशन और जरूरत के अनुसार गहनें डिज़ाइन कर सकें। यदि आपको गहनें डिजाइनिंग का काम नहीं आता है तो आप इसे पहले अच्छी तरह से सीख ले फिर अपने व्यापार की शुरुआत करें।

  • मार्किट को अच्छे समझे

गहनों का व्यापार शुरू करने से पहले आपको जरूरत है की आप मार्किट को अच्छे से समझे की आज के समय में कस्टमर को किस प्रकार के हाथ से बने गहनें चाहिए उसी के अनुसार अपने व्यवसाय का चुनाव करें।

  • व्यवसाय का प्रकार चुनें

आपको हाथो से निर्मित गहनों का व्यापार शुरू करने से पहले अपने व्यवसाय का प्रकार चुनना जरुरी है जैसे की – घर से  व्यापार शुरू करना है या बड़े स्तर पर अपनी दुकान लेकर शुरू करना  है इसके अतिरिक्त होलसेल में बिज़नेस करना है या रिटेल में आदि।  इस सभी बातो को स्पष्ट कर लें उसके बाद अपने व्यापार की शुरुआत करें।

  • कुशल कारीगारों का चुनाव

यदि आप हैंडमेड ज्वेलरी का बिज़नेस छोटे लेवल पर शुरू कर रहे है तो आप स्वयं ही ज्वेलरी डिज़ाइन कर सकते है लेकिन आप अगर बड़े स्तर पर हैंड मेड ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू कर रहे है तो आपको कुशल कारीगरों की आवश्यकता होगी।  जो की आपके अनुसार ज्वेलरी डिज़ाइन कर सकें।

  • मशीनरी और कच्चे माल की खरीद

हाथो से निर्मित गहनों का व्यापार शुरू करने से पहले आपको मशीनरी और कच्चे माल का प्रबंध करना जरुरी है।  जिससे की आपको काम शुरू करने में किसी परेशानी का सामना न करना पड़े।

इस सभी बातों को ध्यान में रख कर आसानी से हाथो से निर्मित गहनों का व्यापार किया जा सकता है।

Registration required for Start Handmade Jewellery Business

हाथ से बने गहनों के व्यापार का पंजीकरण कैसे करवायें ?

भारत  में किसी भी बिज़नेस को स्टार्ट करने के लिए आपको पंजीकरण करवाना आवश्यक है।  इसी तरह से भारत में हैंड मेड ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने के लिए भी आपको पंजीकरण करवाना पड़ेगा। हैंड मेड ज्वेलरी के लिए आपको जो महत्वपूर्ण रजिस्ट्रेशन या पंजीकरण करवाने पड़ेगे वह इस तरह है

  • कंपनी का रजिस्ट्रेशन

हैंड मेड ज्वेलरी का बिज़नेस स्टार्ट करने के लिए आपको सबसे पहले अपनी कंपनी का रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा इसके लिए आपको अपनी कंपनी का नाम रखना बहुत जरुरी है।

  • कंपनी का GST रजिस्ट्रेशन

हैंड मेड ज्वेलरी का बिज़नेस यदि आप ऑफलाइन के साथ साथ ऑनलाइन भी करना चाहते है तो इसके लिए आपको कंपनी का GST रजिस्ट्रेशन करवाना आवश्यक है।

  • कंपनी का बीमा

किसी भी प्रकार के नुक्सान की भरपाई के लिए आवश्यक है की आप कंपनी का बीमा करवा लें।


Other Small Scale Business Ideas


हाथ से बने गहनों के व्यापार की मार्केटिंग कैसे करें

How to do Marketing for  Handmade Jewellery Business

किसी भी व्यापार को चलाने के लिए उसकी मार्केटिंग करना बहुत जरुरी है।  ऐसे में अगर बात की जाएं हाथ से बनी ज्वेलरी के बिज़नेस की तो इसमें मार्केटिंग एक बहुत बड़ी भूमिका निभाती है।  आप मार्केटिंग के जरिये जितने ज्यादा लोगो तक अपनी पहुंच बना पाएंगे उतनी ही आपकी बिक्री अधिक होगी।

हैंडमेड ज्वेलरी के बिज़नेस में मार्केटिंग कई तरीके से की जा सकती है जैसे की –

  1. हस्तशिल्प मेलों में हिस्सा लेकर

हस्तशिल्प मेलों में जा कर आप अपनी दुकान लगा सकते है जिससे की आपको मार्केटिंग में बहुत मदद मिलेगी।  हस्तशिल्प मेलों में अधिकतर वह लोग आना पसंद करते है जो हाथ से बनी चीज़े खरीदना चाहते है। ऐसी स्थिति में यदि आप हाथ से बने गहनें हस्तशिल्प मेले में सेल करेंगे तो आपको जरूर फायदा होगा।

  • ऑनलाइन बिक्री के माध्यम से

आप अपने हैंडमेड ज्वेलरी के बिज़नेस को ऑफलाइन के साथ साथ ऑनलाइन भी शुरू करें।  ऑनलाइन शुरू होने से आपके गहनें लोग दूर दूर तक देख सकेंगे और उन्हें खरीद भी सकेंगे।  इससे आपके व्यापार में बहुत लाभ होगा ।

  • सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर सेल करें

हैंड मेड ज्वेलरी की मार्केटिंग करने के लिए आप सोशल मीडिया की सहायता भी लें सकते है।  आप व्हाट्सप्प , फेसबुक , इंस्टाग्राम , यूट्यूब आदि जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अपने गहनों की  फोटो डाल कर उन्हें आसानी से बेच सकती है।

  • विभिन्न अवसरों पर सेल का आयोजन करें

आप अपनी दुकान के अनुसार विभिन्न अवसरों जैसे त्यौहार , सदियों का सीजन आदि के अनुसार सेल का आयोजन कर सकते है।  जिससे की ज्यादा से ज्यादा कस्टमर आपकी दुकान पर आकर खरीदारी करेंगे और आपकी मार्केटिंग होगी।

  • छोटी छोटी कॉस्मेटिक दुकानों से सम्पर्क  करें

आप अपने हैंड मेड ज्वेलरी की मार्केटिंग के लिए अपनी ज्वेलरी के कुछ सैंपल छोटी छोटी कॉस्मेटिक शॉप पर भी दे सकती है।

इससे शॉप पर आने वाले कस्टमर्स को आपकी ज्वेलरी के बारे में पता चलेगा।  जिससे की आपकी सेल बढ़ने में मदद मिलेगी।

मशीनरी कहां से खरीदे (Where to Purchase  Handmade Jewellery Making Machine )

हाथ से बनने वाले गहनों का व्यापार शुरू करने के लिए किसी खास मशीनरी की जरूरत नहीं पड़ती है। इनका निर्माण करने के बहुत ही छोटी और सिंपल पैटर्न की मशीन चाहिए होती है जैसे की –

  • टियूब फॉर्मिंग मशीन
  • जेट मशीन
  • रिंग टर्निंग मशीन
  • कटर
  • कैंची आदि

यह सभी छोटी छोटी मशीनरी आप किसी भी स्टोर से ऑनलाइन या ऑफलाइन स्टोर से आसानी से खरीद सकते है।

कच्चा माल कहां से खरीदे ( Where to Raw material for  Handmade Jewellery Business )

किसी भी बिज़नेस के लिए कच्चा माल बहुत आवश्यक होता है। इसी प्रकार से हैंड मेड ज्वेलरी के बिज़नेस के लिए भी कच्चा माल बहुत जरुरी है। ज्वेलरी बिज़नेस में कई तरह का कच्चा माल चाहिए होता है जैसे की –

  • लकड़ी
  • अलग अलग  तरह के स्टोन और शीशे
  • धागा
  • हुक
  • अलग अलग तरह की तार
  • मोती
  • लैस
  • पैकिंग का सामान आदि

यह सभी कच्चा माल बाजार में आसानी से उपलब्ध है। यह कच्चा माल किसी भी स्टोर से ऑनलाइन व् ऑफलाइन आसानी से खरीदा जा सकता है। आप अपनी जरूरत के अनुसार कच्चा माल होलसेल या रिटेल दोनों तरह से खरीद सकते है।

कोशिश करें की आप कच्चा माल होलसेल में खरीदे जिससे की आपको यह रिटेल कीमत से सस्ता मिल सकें।


लागत क्या है ? ( Cost Of Making  Handmade Jewellery )

हाथ बने गहनें बनाने में लगने वाली लागत आप अपने बजट के अनुसार के लगा सकते है।  जैसे की यदि आप अपने बिज़नेस को बड़े स्तर पर चलाना चाहते है तो इसकी शुरुआत आप 50000 से 60000 तक कर सकते है।  इतने बजट में आप बेचने के लिए अच्छा खासा स्टॉक बना कर सकते है।  वही अगर आपका बजट कम है तो आप 15000 से 20000 तक की लागत से भी अपना बिज़नेस शुरू कर सकते है।

कम लागत में आप अपनी अवश्यता और जरूरत के अनुसार स्टॉक बना सकते है।इस प्रकार से आप अपने अनुसार अपना बिज़नेस शुरू कर सकते है।

हाथ से बने गहनों की कीमत क्या है ? ( Price of  Handmade Jewellery )

आज के समय में हाथ से बने गहनों की बाजार में बहुत मांग है।  आज कल महिलाएं फैशन और ट्रेंड के कारण तरह तरह की ज्वेलरी पहनना पसंद करती है।  जिसकी वजह से मार्किट में हैंड मेड ज्वेलरी की डिमांड बढ़ रही है।

बढ़ती हुई डिमांड को देखते है हैंड मेड ज्वेलरी की कीमत भी बाजार में बढ़ रही है।  महिलाएं अपने शौक को पूरा करने के लिए किसी भी कीमत पर अपनी पसंद की ज्वेलरी खरीद रही है। साथ ही साथ बाजार में तरह तरह की हैंड मेड ज्वेलरी अलग अलग कीमत पर मिल रही है।

आज के समय में हाथ से बने गहनों की कीमत उनकी लागत से कही ज्यादा है जिसकी वजह से हैंड मेड ज्वेलरी का बिज़नेस करने वाले अच्छा खासा पैसा कमा रहे है।

आज के समय में हैंडमेड ज्वेलरी हर भारतीय के लिए पॉकेट फ्रेंडली है।  कोई व्यक्ति अपनी जेब के अनुसार 100 रूपए से लेकर 1000 रूपए तक या उससे ज्यादा की ज्वेलरी लें सकता है।

क्या भारत में हाथो से बने गहनें का व्यापार फायदे मंद है ? ( Does Handmade Jewellery Business is Beneficial in India )

यदि आप विश्व में कोई व्यापार पूरी मेहनत और लगन के साथ करते है तो वह जरूर फायदेमंद होता है।  वर्तमान समय में हाथ से बने गहनों का व्यापार भारत में फायदेमंद है।  आज के बाजार में हैंड मेड ज्वेलरी की बहुत मांग है जिसकी वजह से कोई भी व्यापारी आसानी से हैंडमेड ज्वेलरी में लगी अपनी लागत निकाल कर अच्छा फायदा बना रहा है।

हैंड मेड ज्वेलरी का बिज़नेस शुरूआती  स्टार्ट अप खोलने वालो के लिए अच्छा विकल्प है।  वह इसमें कम पैसा लगाकर अच्छा मुनाफा कमा सकते है।


Latest Post


FAQs-Handmade Jewellery Business in Hindi

आर्टिफिशियल ज्वेलरी का ऑनलाइन बिजनेस कैसे करें?

आर्टिफिशियल ज्वेलरी का ऑनलाइन बिजनेस करने के लिए आपको कई तरीके है जैसे –
अपनी फर्म के नाम की वेबसाइट बनाकर
फेसबुक पेज बनाकर और उसपर फेसबुक advertisement से
इंस्टाग्राम पर पेज बनाकर
गूगल advertisement से
यूट्यूब से भी आप मार्केटिंग कर सकते है।

ज्वेलरी पर मेकिंग चार्ज कितना लगता है?

ज्वेलरी पर मेकिंग चार्ज अभी के समय 15 -35 परसेंट चल रहा है यह रेट ऊपर नीचे भी हो सकती है ,डिज़ाइन और कारीगरी पर निर्भर है सब।

आर्टिफिशियल ज्वेलरी पर कितना जीएसटी लगता है?

आर्टिफिशियल आभूषणों के लिए जीएसटी दर 3% है और एचएसएन कोड 7117 है।

Check Also

Cattle Feed Making Business Idea Hindi

Cattle Feed Making Business Idea Hindi

पशु आहार निर्माण बिज़नेस-हम सभी जानते है की भारत पशु धन से परिपूर्ण भूमि है।  …

Leave a Reply