Wednesday , February 28 2024

SIP and Lump sum Mutual Funds

आज के समय में हर कोई निवेश के बारे में सोचता है क्यों की आने वाले समय का कोई भी भरोसा नहीं है इसलिए सेविंग जीवन में बहुत महत्वपूर्ण है। लोगो का सबसे पसंदीदा निवेश का माध्यम म्यूच्यूअल फण्ड है , लेकिन यहाँ पर भी असमंजस की स्थिति बनी हुई है क्यों की म्यूच्यूअल फण्ड में SIP and Lump sum Mutual Funds उपलब्ध है अब इसमें से कौन सा सही निवेश है और कौन सा किसको करना चाहिए सब जानते है आज –

SIP and Lump sum Mutual Funds:-

यहाँ पर हम कुछ प्रमुख बिंदुओं पर प्रकाश डालेंगे जो निम्नलिखित है –

  • SIP  क्या है ?
  • Lump sum है ?
  • ये कैसे काम करते है ?
  • सिप में ज्यादा फायदा है या Lump sum में
  • कौन सा इन्वेस्टमेंट किसको करना चाहिए ?

अगर आप म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करना चाहते है या कर रहे है ,दोनों ही सूरत में आपके लिए यह आर्टिकल बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाली है क्यों की हम आपको इस आर्टिकल में कुछ ऐसे टिप्स देंगे जिसके उपयोग से आप अपने निवेश में बहुत फायदा उठा सकते है।

What SIP Mutual Fund :-

सिप (SIP )की फुल फॉर्म है – सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान मतलब सिस्टेमेटिक तरीके से किया गया निवेश
जिसमें निवेश हर महीने/तिमाही /सालाना किया जाता है।

अधिकतर लोग सिप में हर महीने एक फिक्स्ड राशि निवेश करना पसंद करते है जो आपके अकाउंट से खुद व खुद निवेश हो जाती है और यह राशि धीरे धीरे एक बड़ा फण्ड बन जाती है अगर आप उसे लम्बे समय के लिए निवेश करेंगे तो

और म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश के लिए आपको कोई भी डीमैट अकाउंट खुलवाने की जरूरत नहीं होती है ।

SIP and Lump sum Mutual Funds

SIP के फायदे:-

  • एक छोटे से निवेश यानी आप 500 रुपए से भी शुरू कर सकते है
  • मार्केट को बार बार देखने की जरूरत नहीं होती
  • निवेश बहुत आसान होता है- जब आपका बैंक एक बार म्यूच्यूअल फण्ड से जुड़ जाता है तो हर महीने एक तय की गयी निवेश रकम आपके अकाउंट से ऑटो कट होती रहती है और आपको छोटे निवेश का पता भी नहीं चलता है
  • निवेश करने भी आपकी एक आदत भी बन जाती है
  • कम रिस्क का निवेश – म्यूच्यूअल फण्ड एक औसत मार्किट के प्रॉफिट पर काम करता है क्यों की हर महीने जो भी मार्केट का प्राइस होता है वो घटती बढ़ती है और उसी के अनुसार हमारे यूनिट भी बढ़ते घटते रहते है मतलब एक औसतन लाभ मिलाना तय होता है

What is Lump sum Mutual Fund:-

लम्प सम निवेश मतलब एक बड़ी राशि आपके पैसों की-A large sum of money
इसमें आप एकमुश्क़ राशि को मार्केट में निवेश करते है

लम्प सम में किसी इन्वेस्टर द्वारा किसी भी म्यूचुअल फंड प्लान में एक ही बार में बड़ा इन्वेस्टमेंट किया जाता है। Deposited as a one-time down payment..

Lump sum के फायदे :-

  • एक बड़ी राशि का निवेश
  • लम्बी अवधि के लिए सबसे अच्छा निवेश
  • बार बार निवेश से आज़ादी (भविष्य में आपको और कोई निवेश नहीं करना पड़ता है )
  • शेयर मार्किट का फायदा -मार्किट के उतार चढ़ाव के अनुसार निवेश का फायदा)
  • पावर ऑफ़ कम्पाउंडिंग

SIP में ज्यादा फायदा है या lump sum में:-

जैसा की आप सभी को पता ही होगा दोनों इन्वेस्टमेंट शेयर मार्केट के उतर चढ़ाव पर निर्भर होते है तो मतलब कहने का ये है की
अगर आप SIP लेते है और मार्केट वोलेटाइल है यानि उतर चढ़ाव ज्यादा हो रहे है और आपके म्यूच्यूअल फण्ड हर मंथ उसी के अनुसार चल रहे है तो आपको औसत जो भी लाभ आएंगे वो अच्छे होंगे

वहीँ बात करे Lump sum Mutual Funds की तो इसमें मार्केट का बहुत ही बड़ा रोले होता है क्यों की आपकी राशि एक बार निवेश होती है और अगर मार्केट में आप बिना ट्रैक किये निवेश कर देंगे तो आपको लाभ पर बहुत असर पड़ेगा .

तो सीधी सीधी बात ये है की जब मार्केट लगे की डाउन है तब Lump sum Mutual Funds में इन्वेस्ट करना चाहिए तो ये SIP से भी अच्छा return देता है और जब मर्केट हाई पर हो आप Lump sum में इन्वेस्ट न करे मार्केट को ट्रैक करते रहें और सही समय पर किया गया इन्वेस्टमेंट ही जयादा फायदा देता है।

 

 

कौन सा इन्वेस्टमेंट किसको करना चाहिए ?:-

  • अगर आप पहली बार mutual fund में निवेश करना चाहते है तो sip आपके लिए बेस्ट विकल्प हो सकता है
  •  कम जोखिम उठाये ज्यादा फायदा लेना चाहते है तो सिप यहाँ पर भी आपके लिए एक अच्छा निवेश का सौदा रहेगा
  • मार्केट को ट्रैक करना या मार्केट के बारे ज्यादा ज्ञान नहीं रखते है तो भी आप sip कर सकते है।
  • अगर आपकी वेतन या बिज़नेस छोटा है तो भी SIP आपके लिए बेस्ट है
  • क्यों की ये 5०० RS प्रति माह से शुरू हो जाता है और आप छोटे छोटे निवेश से एक बड़ी रकम बना सकते है।
  • Lump sum में आपकी एकमुश्क राशि निवेश होती है जिसको की ज्यादातर इक्विटी फंड या डेड फण्ड में निवेश किआ जाता है
  • आप कम या मध्यम रिटर्न चाहते हैं, तो डेट फंड में लम्प सम इन्वेस्टमेंट करना ठीक रहेगा।
  • इक्विटी फंड में इन्वेस्ट करते समय आपको एक लॉन्ग-टर्म व्यू रखना चाहिए।
  • अगर आप उम्रदराज है मतलब सीनियर सिटीजन है तो आपको एकमुश्त रकम के साथ एक इक्विटी फंड में कोई बड़ा रिस्क लेने से बचने में ही भलाई है
  • Lump-sum इन्वेस्टमेंट के लिए मार्केट ट्रैकिंग /एनालिसिस चाहिए जिससे आप सही समय पर सही निर्णय ले सक।

Check Also

Best Liquid Mutual Funds in India

Best Liquid Mutual Funds in India 2023 Hindi

Best Liquid Mutual Funds in India 2023 Hindi-लिक्विड म्यूचुअल फंड एक प्रकार का म्यूचुअल फंड …

Leave a Reply