Wednesday , February 28 2024

Forex Trading in India in Hindi

Forex Trading in India in Hindi-फॉरेक्‍स क्‍या है?

अगर आप फोरेक्स बाजार के बारे में जानने में इच्छुक है और इसमें ट्रेडिंग करना चाहते है लेकिन आपको इसकी जानकारी नहीं है तो आप यहाँ आर्टिकल Forex Trading in India in Hindi से बहुत कुछ सीख पाएंगे और करेंसी ट्रेडिंग में आप भी निवेश कर लाभ ले पाएंगे तो जानते है बिना देरी के।

दुनिया भर के जितने भी देश है वो सब अपनी अपनी मुद्रा यानि करेंसी का उपयोग अपने देश में क्रय विक्रय करने में उपयोग लेते है और
इन्ही सारी करेंसियों का बाजार जैसे भारत में शेयर बाजार है वैसे ही ‘फॉरेक्स मार्केट या विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में कई देशों की मुद्राओं की ट्रेडिंग होती है,इसमें इंटरनेट के जरिये आसानी से किसी भी देश की करेंसी के साथ ट्रेडिंग आसानी से हो जाती है।

मतलब आप अपनी राष्ट्रीय करेंसी को किसी भी विदेशी करेंसी में बदल सकते है फोरेक्स बाजार या एक्सचेंज विश्व में सबसे बड़े ट्रेडिंग के रूप में जाना जाता है।आमतौर पर लोग एक्सचेंज का इस्तेमाल वाणिज्य, व्यापार और विदेश यात्रा के लिए करते हैं। फॉरेक्स का ट्रेडिंग मनी का अपना तरीका और रणनीति है, और आंकड़ों के अनुसार, फॉरेक्स की दैनिक ट्रेडिंग वॉल्यूम 19 अप्रैल को 6.6 ट्रिलियन डॉलर दर्ज की गई थी।

फोरेक्स ट्रेडिंग काम कैसे करती है ?

इसे FX मार्केट के नाम से भी जाना जाता है ,इसकी कार्य प्रणाली बिलकुल अपने शेयर मार्किट जैसी ही है अंतर बस इतना है की वहां पर हम किसी कंपनी के शेयर्स को रुपए में खरीदते है और मुनाफे के साथ बेचते है वहीं फोरेक्स में ट्रेडिंग विदेशी मुद्राओं के आधार पर होती है जिसमें हमेशा कोई पेयर्स यानि करेंसी की जोड़ी होती है। जैसे –

  • INR /USD
  • EUR / USD
  • GBP / USD
  • USD / JPY
  • USD / CHF

भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग (Forex Trading In India)-

भारत में अभी भी करेंसी टार्डिंग में लोग पैसा इन्वेस्ट नहीं करते है क्यों की उनको या तो इस मार्केट की समझ नहीं है या फिर वो इस फोरेक्स ट्रेनिंग से डरते है क्यों की देखा जाये तो ये मार्केट बहुत ही जोखिम भरी है इसमें आप बहुत जल्दी बहुत लाभ कमा सकते है या नुक़साम भी। बहुत से लोग तो ये सोचते है की यह मार्केट अमीर लोगों का है पर ऐसा कुछ भी नहीं है।

इंडिया में सामान्यतय मुद्रा डेरिवेटिव के माध्यम से हम इस बाजार से तो जुड़े है और ट्रेडिंग भी होती है जैसे – कि फोरेक्स स्पॉट , फॉरवर्ड्स, फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट्स।

विदेशी मुद्रा बाजार कैसे काम करता है?-How does the Forex market work?

एक उदाहरण से समझते है मान लो आप को इस बाजार में 70000 रुपए निवेश करने है और आपने पहले से अनुमान लगाया है की डॉलर जिसकी रेट हमरे रुपए के मुकाबले 70 रुपए है वो भविष्य में और बढ़ेगी तो आप INR/USD जोड़े से ट्रेड करोगे और 1000 डॉलर खरीद कर होल्ड करोगे जैसे ही आप के लाभ के अनुसार रेट होगा आप उसपर लाभ कमाओगे मन लो रेट 72 रुपए चला जाता है तो आपको सीधे सीधे 72000 मतलब 2000 रुपए का लाभ होगा।

इसमें आप मार्जिन ट्रेडिंग भी कर सकते है जिसमें आपको आपके रुपए के हिसाब से दुगना ,तिगुना और ज्यादा रुपए लगा सकते है
मुनाफा या नुकसान आपकी किस्मत पर निर्भर करता है। ट्रेडिंग में हमेश स्टॉपलॉस का उपयोग जरूर करना चाहिए।

फोरेक्स ट्रेडिंग क्या भारत में लीगल है ? is Forex trading legal in India ?

भारत में की कुछ एक्सचेंज पर जैसे BSE, NSE, MCX-SX पर आप आसानी से ट्रेड कर सकते है यदि आपको लगता है कि किसी करेंसी के दाम में वृद्धि या कमी होगी, तो आप उसी के अनुसार उसे खरीद या बेच सकते हैं।और यह बहुत ही आसान है दूसरे मार्केट की तुलना में।इसके लिए आपके पास कोई एक स्टॉक ब्रोकर जो कि SEBI में रजिस्टर्ड हो पर अकाउंट होना चाहिए।

Currency Trading Pairs for India

  • USD-INR. (US Dollar)
  • EUR-INR. (European Currency)
  • GBP-INR. (Great Britain Pound)
  • JPY-INR. (Japanese Yen)

Must Read :-

Best Loan For Students in India Hindi

Small Business Ideas in India Hindi कम लागत के ये छोटे बिज़नेस आपको देंगे लाखों रुपये।

Check Also

What is National Stock Exchange Hindi- NSE के कार्य और फायदे

What is National Stock Exchange Hindi- NSE के कार्य और फायदे

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) भारत में सबसे पुरानी स्टॉक और दुनिया में सबसे बड़ा एक्सचेंज …

Leave a Reply